Skip to main content
Scripbox Logo

काम की बात: 40 वर्ष की उम्र में क्यों होती है इमरजेंसी फंड की सख्त जरूरत

कुछ लोग यह विश्वास करने की गलती करते हैं कि एक आपातकालीन निधि यानी इमरजेंसी फंड की मुख्य रूप से उन लोगों को जरूरत होती है, जिन्होंने अभी अपनी नौकरी शुरू की है या अभी भी 20 या 30 साल के हैं या उनके पास छोटे बच्चे हैं।

आप में से बहुत से लोग यह तो जानते ही होंगे कि एक आपातकालीन निधि या इमरजेंसी फंड क्या है। यह एक ऐसा हथियार है जो बिना बुलाए आने वाली मुसीबतों से निपटने के लिए आपके छह महीने के ख़र्चे या लगभग चार महीने का वेतन होता है । कभी आमदनी का नुकसान हो जाए या  अचानक और इमरजेंसी खर्च आ जााए तो यह फंड उस वक्त बहुत काम आता है।

कुछ लोग, यह विश्वास करने की गलती करते हैं कि एक आपातकालीन निधि उन लोगों के लिए है,जो अभी अपना काम शुरू कर रहे हैं या अभी भी अपने 20 या 30 की उम्र के पड़ाव में हैं।  जब कोई अपने 40 वर्ष में पहुंचता है, उस समय उसके पास आमदनी के अच्छे-खासे स्थायी स्रोत बन जाते हैं. इस उम्र में खर्च करने के इंतजाम करने का अच्छा खासा तजुर्बा भी हो जाता है।

विशेषकर भारत के महानगरों में रहने वाले 40 वर्ष के कुछ ऐसे कई भारतीय हैं, जो निवेश कर रहे हैं। बहुत से लोग ऐसे भी हैं जो बहुत लंबे समय से इसी तरह से निवेश कर रहे हैं। ऐसे लोगों का यह सोचना है कि उन्हें किसी भी तरह के इमरजेंसी फंड की जरूरत नहीं है। वास्तव में कुछ लोगों से जब यह पूछा जाता है कि क्या उनके पास इंमरजेंसी फंड है, तो उनके चेहरे पर अजीब तरह के भाव उभर कर सामने आते हैं।

आप तैयार हो सकते हैं, लेकिन क्या आपने पर्याप्त तैयारी की है?

निवेश करने का यह मतलब  नहीं होता है कि आप आपातकालीन स्थिति के लिए तैयार हैं। हममें से बहुत से लोग जिन्दगी की अनहोनी की अधिक परवाह नहीं करते हैं, विशेष रूप से जब तक कि हमने किसी तरह की बुरी  घटना का अनुभव नहीं किया होता है। बडे पैमाने पर लोग स्थिर अवस्था के लिए योजनाएं बना रहे हैं, जहां चीजें वैसी ही रहती हैं जैसी हैं या कभी-कभी वे बेहतर भी हो जाती हैं।

सकारात्मक होना बहुत ही अच्छा होता है। सकारात्मक होने का मतलब यह है कि आप तैयार होना चाहते हैं, जो अपने आप में बहुत ही बेहतर है। बुद्धिमान व्यक्ति हमेशा अनहोनी  से निपटने के लिए पर्याप्त इंतजाम करके चलते हैं।

जब आप 40 के वर्ष के होनेजा रहे होते हैं, तब आपके पास एक परिवार होता है, परिवार के सदस्य आपके आश्रित होते हैं। उस समय आप शायद होम लोन भी चुका रहे होते हैं। इस समय आपके खर्च भी 20 या 30 वर्ष की शुरुआत की अवस्था से काफी अधिक होते हैं।

आपने इन बढ़ते खर्चों पर ध्यान इसलिए नहीं दिया (हालांकि इसकी उम्मीद कम है!) क्योंकि आपकी आमदनी भी बढ़ती गई। आप 40 की उम्र तक लीडरशिप या मैनेजमेंट की भूमिका में पहुंच जाते हैं। इससे आपकी आमदनी आपके शुरुआती वर्षों की अपेक्षा काफी अच्छी हो जाती है। यह हाई सैलरी कभी-कभी हमें  ऐसे परिदृश्य में अंधा कर देती है, जहां हमें यह आमदनी हासिल नहीं हो सकती है, यहां तक कि अस्थायी रूप से भी।

आपके बढ़ते ख़र्चो का क्या मतलब है?

कोई भी शख्स अपने जीवन को आर्थिक मामलों से या किसी अन्य तरह से पटरी से नीचे नहीं उतारना चाहता। उन लोगों के लिए, जो 40 या 50 की उम्र में पहुंचने वाले होते हैं, उस समय उनके खर्चे शायद अपने चरम पर होते हैं। ऐसी स्थिति में आपको इमरजेंसी फंड की सख्त आवश्यकता होती है, यह फंड आपके पास होना ही चाहिये।

आपके पास 20 या 30 की उम्र में जीवनशैली में हेरफेर करने की गुजाइश रहती है क्योंकि उस स्तर पर नौकरी छूटने का मतलब यह होता है कि आमतौर पर 3-4 महीनों में दूसरी नौकरी मिल जाना। जब आपकी उम्र बढ़ जाती है, तब यह संभव नहीं रहता है। उस समय में नौकरी छूटने की स्थिति में, आपको अपने स्तर की दूसरी नौकरी खोजने में अधिक समय लग सकता है। चंूकि आपकी उम्र अधिक हो जाती है, आप गंभीर भी हो जाते हैं। ऐसी स्थिति में आपकी जिम्मेदारियां भी बड़ी हो जातीं हैं। तब भी आपको इस तरह के फंड की आवश्यकता होती है।

हर महीने होने वाले सारे निवेशों के साथ बड़ी जिम्मेदारियां और व्यय का मतलब यह है कि इन सारे खर्चों को पूरा करने के लिए आपको अपनी क्षमता से बहुत ही अधिक सावधानीपूर्वक उपाय करना होता है।

आपको क्या करना चाहिये?

सबसे स्मार्ट और सबसे आसान बात यह सुनिश्चित करना है कि आपका कम से कम निवेश किसी लिक्विड फंड या बैंक खाते में हो। यह आपके खर्चों के कम से कम छह महीने के बराबर होना चाहिए या जो भी आपके निजी हालातों के अनुकूल हो। साथ ही यह सुनिश्चित करें कि आपका अपना और अपने परिवार का स्वास्थ्य बीमा भी हो।

पहले संभले और फिर यह तय करें कि आप इस इमरजेंसी फंड को अपने खर्चों के अनुसार बढ़ाएँ। यदि आप आने वाले खर्चों के बारे में नहीं जानते हों या आपको नौकरी आसानी से नहीं मिल रही है। ऐसी स्थिति के लिए आपके पास हमेशा कम से कम छह महीने के खर्चे के लायक लिक्विड फंड या बैंक खाते में फंड होने चाहिये। यदि आपने यह बड़ी तैयारी कर ली तो बड़ी शांति मिलती है।


Achieve all your financial goals with Scripbox. Start Now