Skip to main content
Scripbox Logo

फिजूल खर्चों से निपटने के लिए बचत के खास टिप्स

लोग अक्सर ऐसी चीजें खरीदते हैं, जिनकी उन्हें जरूरत नहीं होती है। इस तरह से वे अपने बेकाबू खर्च से बैठे-बिठाए आर्थिक तंगी की मुसीबत को मोल ले लेते हैं।

नियती अपने दिन की शुरुआत इंटरनेट पर लॉग इन करके करती है। उसकी स्क्रीन पर एक संदेश दिखता है कि इलेक्ट्रॉनिक्स और अन्य वस्तुओं पे तीन दिन की सेल शुरू हो गयी है। एक डिजाइनर आइटम पर आॅफर की पेशकश नियती को भा जाती है ।

दो दिन बाद, पार्सल आता है और उसे पता चलता है कि डिजाइनर जूते की नौवीं जोड़ी इत्नी ज़रूरी नहीं थी।

नियती कई बेफिजूल खर्च करने वालों में से एक है; वो अक्सर ऐसी चीजें खरीदती है जिनकी उन्हें जरूरत ही नहीं है. और अपने बेकाबू खर्च से बैठे-बिठाए वित्तीय मुसीबत मोल ले लेती है।

हालांकि, ऐसे तरीके हैं जिनसे इस तरह के कामों पर अंकुश लगा कर बेफिजूल के खर्च से बचा जा सकता है.

1. परेशानी की वजह को पहचानें

यदि कोई बेफिजूल खर्च करने वाला है, तो इस बात की  बहुत कम संभावना है कि वह किसी भी बजट सिस्टम का पालन करेगा। वह पहले से ही गलत दिशा को अपना चुका होगा।

बजट शुरू करने के सबसे आसान तरीकों में से एक यह है कि बजट बनाने के लिए 50-20-30 के फार्मूले को अपनाएं। आय का 50% हिस्सा घर की सबसे जरूरी खर्चों जैसे किराया, भोजन और किराने का सामान, जरूरी बिल व आवश्यक खर्च के लिए फिक्स करें। आय का 20 परसेंट हिस्सा बचत और निवेश के रूप में रखा जाना चाहिये और आपकी आय का 30% मनोरंजन (यात्रा और मनोरंजन) जैसे खर्चों के लिए होना चाहिए।

अनिवार्य रूप से, बेफिजूल खर्च करने वालों को चाहिये कि वह घर के खर्चों को ही लक्ष्य बनाकर खर्च करें और खर्च को कम करके अपने पैसे को बचा सकते हैं।

सबसे पहले खाने, फिल्मेंं, सैर-सपाटा और इसी तरह के खर्चों के लिए अधिकतर सीमा तय करके शुरुआत करें।

2. खरीदारी को इस तरह से टालें

जब भी आप कोई गैर-जरूरी खरीदारी कर रहे हों, तो 24 घंटे या उससे अधिक का समय सोच-विचार के लिए रखे। यदि आप मॉल में हैं और कोई खूबसूरत फर्नीचर भा जाता है, तो इसे तुरन्त खरीदे नहीं बल्कि नोट कर लें। यदि आप एक शानदार गैजेट आॅनलाइन देखते हैं, तो इसे भी भी खरीदने की सूची में डाल दें।

एक दिन के बाद फिर से विचार करें कि क्या आपको वास्तव में इसकी आवश्यकता है। अक्सर, इस तरह के फैसलों को थोड़े समय के लिए टाल देने से आपको यह सोचने का मौका मिल जाता है कि क्या आपको वास्तव में इसकी आवश्यकता है। यदि 24 घंटे कम हंै, तो इस समय को एक सप्ताह या एक महीने तक के लिए भी बढ़ा सकते हैं। अच्छी चीजें हमेशा इंतजार कर सकती हैं, अगर वे इसके लायक हैं।

3. लिस्ट बनाए बिना खरीदारी न करें

लोग अक्सर टूथपेस्ट और किराने का सामान खरीदने के लिए सुपरमार्केट जाते हैं और अपनी शॉपिंग कार्ट में गम, चॉकलेट और बेफिजूल की क्रॉकरी जैसी चीजें डाल लेते हैं। जोश में बेफिजूल की चीजें खरीदने पर अंकुश लगाने के लिए पहले से खरीदने वाले सामान की लिस्ट तैयार करें। हो सके तो मॉल में बहुत कम या कम से कम जाएं। 

जब भी आप कोई गैर-जरूरी खरीदारी कर रहे हों, तो 24 घंटे या उससे अधिक की प्रतीक्षा अवधि दें. यदि आप मॉल में हैं, और आकर्षक फर्नीचर दिखता है , तो इसे नोट करें। यदि आप एक दिलचस्प गैजेट आॅनलाइन देखते हैं, तो इसे इच्छा सूची में डालें।

4. एसआईपी बनाएं और लक्ष्य हासिल करे

आपको अपने वित्तीय लक्ष्यों को पूरा करने के लिए अपने निवेश को स्वचालित करने की जरूरत है। आपकी आय का कम से कम 20% हिस्सा लंबे या थोड़े समय के वित्तीय लक्ष्यों को पूरा करने के उद्देश्य से निवेश किया जाना चाहिए। एक एसआईपी(सिस्टेमेटिक इन्वेस्टमेंट प्लान) शुरू करें। इस तरह आप सेवानिवृत्ति या बच्चों की शिक्षा से समझौता नहीं करने वाले वित्तीय लक्ष्यों को आसानी से हासिल कर लेंगे।

संक्षेप में, बेफिजूल खर्च करने वाले अपने वित्त को सही रास्ते में ला सकते हैं और निम्न कार्य करके भविष्य के लिए बचत भी कर सकते हैं: एक साधारण बजट प्रणाली के माध्यम से परेशानी के कारणों की पहचान करें, खर्च सीमा निर्धारित करें, खरीदारी की सूची पहले से तैयार करें और तेजी से खरीद पर अंकुश लगाने के लिए प्रतीक्षा अवधि डालें। इसके अलावा, निवेश को स्वचालित करके यह सुनिश्चित करें कि आपके वित्तीय लक्ष्यों से समझौता नहीं किया जाए।

Achieve all your financial goals with Scripbox. Start Now